पोस्ट एग्जाम एनालिसिस के आधार पर भी बैन हो सकते हैं स्टूडेंट्स, JEE Mains के कैंडिडेट्स को NTA ने दी चेतावनी

पोस्ट एग्जाम एनालिसिस के आधार पर भी बैन हो सकते हैं स्टूडेंट्स, JEE Mains के कैंडिडेट्स को NTA ने दी चेतावनी

<p style="text-align: justify;">राष्ट्रीय परीक्षा एजेंसी (NTA) ने जेईई मेन परीक्षा देने वाले छात्रों को सलाह दी है. एनटीए ने छात्रों को चेतावनी देते हुए कहा है कि वह एग्जाम में बिल्कुल भी नकल करने या फिर फर्जीबाड़ा करने का प्रयास ना करें. यदि को उम्मीदवार चीटिंग कर या फिर किसी गलत तरह से पेपर देकर निकल जाते हैं तो वह बाद में भी पकड़ा जा सकता है. पोस्ट एग्जाम डेटा विश्लेषण के समय उम्मीदवार पकड़ा जा सकता है. आज से जेईई मेन सेशन-2 एग्जाम शुरू हो गए हैं. एजेंसी की तरफ से कहा गया है कि किसी भी प्रकार के फर्जीवाड़े को पकड़ने के लिए वह पोस्ट एग्जाम वीडियो डेटा का विश्लेषण भी करेगा. इसके अलावा सवाल को अटेम्प्ट करने वाले लॉग भी चेक किए जाएंगे.</p>
<p style="text-align: justify;">अगर मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो उम्मीदवारों के रिमोट बायोमेट्रिक मिलान के लिए एआई भी उपयोग में लिया जा सकता है. जेईई मेन एग्जाम कंप्यूटर आधारित मोड में हो रही है. वहीं, दूसरे सेशन के लिए कुल 12.57 लाख अभ्यर्थियों ने रजिस्ट्रेशन किया है. इनमें से 75 प्रतिशत उम्मीदवार जनवरी सत्र में शामिल हो चुके हैं.</p>
<h3 style="text-align: justify;"><strong>क्या बोले महानिदेशक</strong></h3>
<p style="text-align: justify;">नेशनल टेस्टिंग एजेंसी के महानिदेशक सुबोध कुमार सिंह का कहना है कि नकल पर अंकुश लगाने के लिए और निष्पक्षता सुनिश्चित करने के लिए कई प्रयास किए जा रहे हैं. उन्होंने कहा कि अगर कोई अभ्यर्थी परीक्षा के समय वॉशरूम भी जाता है तो उसे बायोमेट्रिक वेरिफिकेशन व अन्य प्रक्रिया से गुजरना होगा. एग्जाम के दौरान किसी भी गलत गतिविधि में पकड़े जाने पर अभ्यर्थी की उम्मीदवारी रद्द की जा सकती है.</p>
<h3 style="text-align: justify;"><strong>किस लिए होती है परीक्षा&nbsp;</strong></h3>
<p style="text-align: justify;">जेईई मेंस एग्जाम का आयोजन साल भर में दो किया जाता है. ये एग्जाम दो सत्रों में आयोजित होता है. इसमें दो पेपर होते हैं. पहला पेपर यानि पेपर-1 बीई/बीटेक में दाखिले के लिए होता है. पेपर-1 एनआईटी, आईआईआईटी, सीएफटीआई में अन्य भाग लेने वाली राज्य सरकारों की तरफ से फंडेड/ मान्यता प्राप्त संस्थान / विश्वविद्यालय अंडर ग्रेजुएट इंजीनियरिंग कोर्स (बीई/ बीटेक) में दाखिले के लिए होती है. ये एग्जाम जेईई एडवांस के लिए एक पात्रता परीक्षा भी है. जिसके जरिए आईआईटी में दाखिला मिलता है. पेपर-2 का आयोजन बीआर्क और बी प्लानिंग कोर्स में प्रवेश के लिए होती है.</p>
<p style="text-align: justify;"><strong>यह भी पढ़ें- <a title="Sarkari Naukri: यूपी में नर्सिंग ऑफिसर के पदों पर चल रही है भर्ती, एक लाख से ज्यादा है महीने की सैलरी" href="https://www.abplive.com/photo-gallery/education/jobs-drmlims-recruitment-2024-for-665-nursing-officer-posts-apply-before-21-april-at-drrmlims-ac-in-up-govt-job-sarkari-naukri-job-alert-job-news-2656646" target="_blank" rel="noopener">Sarkari Naukri: यूपी में नर्सिंग ऑफिसर के पदों पर चल रही है भर्ती, एक लाख से ज्यादा है महीने की सैलरी</a></strong></p>

#पसट #एगजम #एनलसस #क #आधर #पर #भ #बन #ह #सकत #ह #सटडटस #JEE #Mains #क #कडडटस #क #NTA #न #द #चतवन

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *