वो गाड़ी नंबर 786, जिसके ऊपर रौबीली मुंछें और हाथों में गन लिए बैठता था मख्तार, पूर्वांचल में आज भी है उसका खौफ

वो गाड़ी नंबर 786, जिसके ऊपर रौबीली मुंछें और हाथों में गन लिए बैठता था मख्तार, पूर्वांचल में आज भी है उसका खौफ
Spread the love

पूर्वांचल के बहुबली विधायक मुख्तार अंसारी की गुरुवार (29 मार्च) को मौत हो गई. उत्तर प्रदेश की राजनीति में मुख्तार अंसारी वो नाम था, जिसकी पहचान आंखों पर हमेशा काले चश्मे और गाड़ी नंबर 786 से हुआ करता था. मौ जिले में जब भी मुख्तार गाड़ी से कहीं जाते थे तो जीप के ऊपर बैठकर चलते थे, जिसका कई वीडियो सोशल मीडिया पर उपलब्ध है.

एक समय में मुख्तार अंसारी का ऐसा दबदबा था कि पूरे पूर्वांचल के लोग गाड़ी नंबर 786 से डरते थे. साल 1980-90 के दशक में मुख्तार अंसारी जहां भी अपनी गाड़ियों से निकलता था लोग सड़क से किनारे हो जाते थे. मुख्तार के काफीले के सभी गाड़ियों का नंबर 786 हुआ करता था. 

पूरे जिले में उसकी पहचान 786 से होने लगी थी. क्योंकि वह पहले खिलाड़ी रह चुका था. वह क्रिकेट का बहुत प्रेमी था, इस वजह से बाद में उसकी पहचान खिलाड़ी 786 के रूप में भी होने लगी.

साल 1986 में जब ठेकेदार सच्चिदानंद राय की हत्या के मामले में मुख्तार अंसारी जेल से बाहर आये तो जेल के बाहर उनके सहयोगियों ने लक्जरी लक्जरी वाहनों के काफिले के साथ उनका स्वागत किया. उस काफीले की सभी गाड़ियों के नंबर 786 थे.

#व #गड #नबर #जसक #ऊपर #रबल #मछ #और #हथ #म #गन #लए #बठत #थ #मखतर #परवचल #म #आज #भ #ह #उसक #खफ


Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *