basant panchami 2024 Shubh muhurat and saraswati Puja vidhi

basant panchami 2024 Shubh muhurat and saraswati Puja vidhi
Spread the love

Basant Panchami 2024: ज्ञान, विवेक, प्रतिभा, स्मरण शक्ति, वाक् शक्ति, चिंतन और निर्णय शक्ति प्राप्त करने के लिए एकमात्र यही सरल उपाय है कि सरस्वती देवी की उपासना की जाए. यह बात अलग है कि कोई व्यक्ति ज्ञानार्जन करके कवि बनना चाहता है, कोई सिंगर, कोई राईटर या फिर सिविल सर्विसेज में जाना चाहता है. लेकिन ये सभी क्षेत्र सरस्वती के द्वारा ही अनुशासित होते हैं. इसलिए उनका आशीर्वाद हर क्षेत्र में आवष्यक हैं.

 

सरस्वती के जन्म के साथ धरती पर ज्ञान की शुरुआत हुई. जिस दिन सरस्वती प्रकट हुईं, वो दिन बसंत पंचमी का था. इस साल यह पर्व 14 फरवरी, बुधवार को है. बसंत पंचमी पर शिक्षा से जुड़े या नए कोर्स की शुरुआत करनी चाहिए. इस दिन अबूझ मुहूर्त होने के कारण विवाह और किसी भी नए काम की शुरुवात कर सकते हैं. ये ज्ञान, यानी नॉलेज का उत्सव है. हम ज्यादा से ज्यादा नॉलेज लें. हमारे पास जितना ज्ञान होगा, जीवन का संघर्ष उतना आसान हो जाएगा. 

 

सरस्वती पूजा का शुभ मुहूर्त (Basant Panchami 2024 Muhurat)

  • पंचमी तिथि 13 फरवरी को दोपहर 2 बजकर 43 मिनट पर प्रारंभ होगी और 14 फरवरी 2024 को दोपहर 12 बजकर 10 मिनट पर समाप्त होगी. ऐसे में उदयातिथि के अनुसार बसंती का पर्व 14 फरवरी को ही मनाया जाएगा. इस दिन लाभ व अमृत मुहूर्तः सुबह 7 से 9 बजे तक रहेगा.
  • • शुभ योग मुहूर्तः शाम 5 बजकर 15 मिनट से 6 बजकर 15 मिनट तक.

बसंत पंचमी पूजन विधि (Basant Panchami 2024 Puja Vidhi)

 










1- बसंत पंचमी के दिन सुबह उठकर सबसे पहले धरती माँ को स्पर्श कर नमन करें.
2-  स्नानादि के बाद पीले रंग के कपड़े पहने, पीला रंग समृद्धि, ऊर्जा का प्रतीक माना जाता है.
3- मां सरस्वती की प्रतिमा को गंगा जल से साफ करके पीले या सफेद रंग के ही कपड़े पहनाएं.
4-  मां सरस्वती की मूर्ति पर चंदन का तिलक, हल्दी, फल, पुष्प, रोली, केसर और चावल अर्पित करें.
5-  मां को बूंदी के लड्डू के साथ दही और हलवा का भोग लगाएं.
6- मां शारदा के चरणों में कॉपी, पेन और पुस्तक रख कर, ‘ऊँ ऐं ऐं ऐं महासरस्वत्यै नमः’ का 108 जाप करना चाहिए.
7- पूजन का संकल्प लेकर नियमित सरस्वती पूजा करने से विद्यार्थियों की मेधा तीव्र रूप से बढ़ती है और आशीर्वाद मिलता है.

 

बसंत पंचमी के दिन करें ये उपाय (Basant Panchami Upay)

  • श्रेष्ठ शिक्षा के लिए-शिक्षा तो सभी ग्रहण करते ही है, लेकिन श्रेष्ठ एवं उच्च स्तरीय शिक्षा प्राप्त करना किसी-किसी को ही संभव हो पाता है, यदि आपको हायर एजुकेशन के लिये किसी प्रतिष्ठित कॉलेज में एडमिशन नहीं मिल रहा है तो आप सरस्वती यंत्र पर 35 लौंग चढ़ाकर 35 बार ‘‘ऊँ त्रं ऊँ’’ इस मंत्र का जाप करें. मंत्र समाप्ति के बाद यंत्र और लौंग को दक्षिण दिशा की ओर जमीन में गाढ़ दें. आपके कार्य की पूर्ति संभव होने लगेगी.
  • यदि आपका बच्चा पढ़ाई में पिछड़ा रहता हैं या उसका मन पढ़ने में नहीं लगता. तो आप बसंत पंचमी के दिन सुबह घर के पूजा स्थान पर अभिमंत्रित सरस्वती यंत्र रखकर, सफेद चंदन, पीले और सफेद पुष्प अर्पित करके धूप-दीप करें और ऊँ हृं हृं हृं सरस्वत्यै नमः इस मंत्र का 11 माला जाप करें. आप स्वयं यह प्रयोग करें और यदि बच्चा कर सकें तो उससे ही करवाएं.
  • यदि आप एक अच्छे संगीतकार, कोरियोग्राफर या कलाकार हैं और आपको कोई अवसर नहीं मिल रही है, तो आप मां सरस्वती की विधि अनुसार पूजा कर ”सरस्वती महाभागे विद्ये कमललोचने. विद्यारूपे विशालाक्षि विद्यां देहि नमोस्तुते” का 108 बार जाप बसंत पंचमी वाले दिन से शुरू करके रोजाना करें. ऐसे आपको अपने फील्ड़ में सफलता जरूर मिलेगी.

यह भी पढ़ें- Basant Panchami 2024 Bhog: बसंत पंचमी के दिन किस चीज का भोग लगाना शुभ होता है, जानें

Disclaimer: यहां मुहैया सूचना सिर्फ मान्यताओं और जानकारियों पर आधारित है. यहां यह बताना जरूरी है कि ABPLive.com किसी भी तरह की मान्यता, जानकारी की पुष्टि नहीं करता है. किसी भी जानकारी या मान्यता को अमल में लाने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से सलाह लें.

#basant #panchami #Shubh #muhurat #saraswati #Puja #vidhi


Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *