Retail Inflation Data: महंगाई से मिली बड़ी राहत, जनवरी 2024 में 5.10 फीसदी रही खुदरा महंगाई दर

Retail Inflation Data: महंगाई से मिली बड़ी राहत, जनवरी 2024 में 5.10 फीसदी रही खुदरा महंगाई दर
Spread the love

Retail Inflation Data: नए साल के पहले महीने में मोदी सरकार से लेकर आरबीआई के लिए राहत की खबर आई है. जनवरी 2024 में खुदरा महंगाई दर घटकर 5.10 फीसदी पर आ गई है जो दिसंबर 2023 में  5.69 फीसदी पर रही थी. जनवरी 2024 में खाद्य महंगाई दर में भी दिसंबर 2023 के मुकाबले कमी आई है. जनवरी में खाद्य महंगाई दर 8.30 फीसदी रही है जो दिसंबर 2023 में 9.53 फीसदी रही थी.  

8.30 फीसदी रही फूड इंफ्लेशन

सांख्यिकी मंत्रालय ने जनवरी महीने के लिए खुदरा महंगाई दर का डेटा जारी किया है. इस डेटा के मुताबिक भले ही खुदरा महंगाई दर में गिरावट आई है लेकिन साग – सब्जियों की महंगाई चिंता का सबब बनी हुई है. साग – सब्जियों की महंगाई दर में 25 फीसदी के ऊपर रही है जबकि दालों की महंगाई 20 फीसदी के करीब है. इसी के चलते खाद्य महंगाई दर रही है जनवरी 2024 में 8.30 फीसदी पर बनी हुई है. 

साग – सब्जियों और दालों की महंगाई से राहत नहीं 

जनवरी 2023 में दिसंबर 2023 के मुकाबले दालों की महंगाई में मामूली गिरावट देखने को मिली है. जनवरी में दालों की महंगाई दर 19.54 फीसदी पर रही है जो दिसंबर 2023 में 20.73 फीसदी रही थी. सब्जियों की महंगाई दर में भी मामूली कमी आई है और ये दिसंबर के 27.64 फीसदी के आंकड़े से घटकर 27.03 फीसदी पर आ गई है. अनाज और उससे जुड़े प्रोडक्ट्स की महंगाई दर भी घटी है और 7.83 फीसदी रही है जो दिसंबर में 9.93 फीसदी रही थी. ससालों की महंगाई दर दिसंबर के 19.69 फीसदी से घटकर 16.36 फीसदी पर आ गई है. फलों की महंगाई दर में भी कमी आई है और ये 8.65 फीसदी रही है जो दिसंबर 2023 में 11.14 फीसदी रही थी. 

महंगी ईएमआई से अभी राहत नहीं!

खुदरा महंगाई दर घटकर 5 फीसदी के करीब आ गई है और ये आरबीआई के टोलरेंस बैंड के भीतर है. लेकिन आरबीआई का लक्ष्य महंगाई दर को 4 फीसदी तक लाना है इसकी के बाद महंगाई ईएमआई से राहत की उम्मीद की जा सकती है. 8 फरवरी 2024 को आरबीआई ने 2024 के पहले मॉनिटरी पॉलिसी का एलान किया है. आरबीआई के मुताबिक 2024-25 में महंगाई दर 4.5 फीसदी रहने का अनुमान है. आरबीआई गवर्नर शक्तिकांत दास ने कहा खाद्य महंगाई के आउटलुक पर महंगाई दर निर्भर करने वाला है. उन्होंने कहा कि वैश्विक तनाव के चलते सप्लाई साइड दिक्कतें तो है ही कच्चे तेल के दामों में भी उतार – चढ़ाव देखने को मिल रहा है. ऐसे में महंगाई ईएमआई से राहत के लिए अभी इंतजार करना होगा.  

ये भी पढ़ें 

Hurun List: ये हैं देश की सबसे सफल कंपनियां, 231 लाख करोड़ है मार्केट वैल्यू, कई देशों की जीडीपी भी इनसे पीछे 

#Retail #Inflation #Data #महगई #स #मल #बड #रहत #जनवर #म #फसद #रह #खदर #महगई #दर


Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *