UPI transactions saw growth of 56% YoY As value of transactions surged To 100 Trillion Rupees In H2 2023

UPI transactions saw growth of 56% YoY As value of transactions surged To 100 Trillion Rupees In H2 2023

India Digital Payment Report: डिजिटल पेमेंट के मामले में भारत ने दुनिया के कई दिग्गज देशों को पीछे छोड़ रखा है. एक रिपोर्ट के मुताबिक भारत में डिजिटल पेमेंट सिस्टम में यूपीआई का दबदबा लगातार बढ़ता ही जा रहा है. और यूपीआई ट्रांजैक्शन केवल भारतीय सीमा तक सीमित नहीं है बल्कि इसका जाल दूसरे देशों तक फैसला जा रहा है. यूपीआई के जरिए दूसरे देशों में बैठे लोग यूपीआई ट्रांजैक्शन कर सकते हैं. एक रिपोर्ट के मुताबिक साल 2023 की दूसरी छमाही में यूपीआई ट्रांजैक्शन में 56 फीसदी का इजाफा साल दर साल देखने को मिला है. 

विदेशों में पांव फैला रहा UPI

पेमेंट सर्विसेज के क्षेत्र की दिग्गज ग्लोबल कंपनी वर्ल्डलाइन (Worldline) ने 2023 की दूसरी छमाही के लिए इंडिया डिजिटल पेमेंट रिपोर्ट जारी किया है. इस रिपोर्ट में भारत में डिजिटल पेमेंट के ट्रेंड्स और लैंडस्केप को कैप्चर किया गया है. रिपोर्ट में बताया कि डिजिटल पेमेंट सिस्टम में यूपीआई का सबसे बड़ा हिस्सा है और भारत के बाहर भी ये अपना पांव फैलाता जा रहा है. 

UPI ट्रांजैक्शन में 44% का उछाल 

रिपोर्ट के मुताबिक 2023 की दूसरी छमाही में यूपीआई ट्रांजैक्शन का वॉल्यूम 65.77 बिलियन रहा है जो 2022 की दूसरी छमाही में 42.09 बिलियन रहा था. यानि 56 फीसदी का ग्रोथ साल दर साल देखने को मिला है. ट्रांजैक्शन के वैल्यू पर नजर डालें तो 2022 की दूसरी छमाही के दौरान यूपीआई ट्रांजैक्शन का कुल वैल्यू 69.36 लाख करोड़ रुपये रहा था जो 2023 की दूसरी छमाही के दौरान 44 फीसदी के उछाल के साथ 99.68 लाख करोड़ रुपये पर जा पहुंचा है. 

छोटे ट्रांजैक्शन के लिए बढ़ा UPI का इस्तेमाल

इंडिया डिजिटल पेमेंट रिपोर्ट के मुताबिक यूपीआई ट्रांजैक्शन के औसत टिकट साइज (Average Ticket Size) में 8 फीसदी की गिरावट आई है और ये 1648 रुपये से घटकर 1515 रुपये पर आ गया है. यूपीआई ट्रांजैक्शन के औसत टिकट साइज में गिरावट इस ओर इशारा कर रहा कि छोटे और माइक्रो ट्रांजैक्शन के लिए यूपीआई ट्रांजैक्शन का इस्तेमाल तेजी के साथ बढ़ रहा है. ये गिरावट पर्सन टू मर्चेंट (Person To Merchant) ट्रांजैक्शन में तेज उछाल के चलते आया है.  

UPI का बढ़ा क्रेज

इस रिपोर्ट पर वर्ल्डलाइन इंडिया के चीफ एग्जीक्यूटिव ऑफिसर रमेश नरसिम्हन ने कहा, साल 2023 के दौरान पेमेंट इकोसिस्टम के मोर्चे बड़ा माइलस्टोन भारत ने हासिल किया है. मोबाइल ट्रांजैक्शन के विस्तार के चलते यूपीआई ट्रांजैक्शन सभी डिजिटल पेमेंट सिस्टम में सबसे सर्वोपरि स्थान पर है. ये यूजर्स के स्मार्टफोन बेस्ड पेमेंट के तरीकों में बढ़ते भरोसे को दर्शाता है. 

ये भी पढ़ें 

Forbes Richest List 2024: ये कारोबारी है दुनिया का सबसे अमीर शख्स, भारत के अंबानी-अडानी किस नंबर पर-जानें

#UPI #transactions #growth #YoY #transactions #surged #Trillion #Rupees

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *